दोस्त की शर्त ने ली जान.. 19 साल के लड़के ने जिस जीव को जिंदा खाया, वही उसे अंदर से खा गया

कभी कभी शर्त इतनी भारी पड़ जाती है कि जान पर बन आती है। दोस्तों से लगी एक शर्त के चक्कर में ऑस्ट्रेलिया के रग्बी प्लेयर रहे सैम बैलार्ड की शुक्रवार जान चली गई। सैम 28 साल का था। दरअसल, सैम जब 19 साल का था तब दोस्तों के साथ एक बीच पार्टी में वो शराब पी रहा था। इस दौरान उसे एक घोंघा दिखा। ये देख सैम ने अपने दोस्तों से मस्ती में कहा कि क्या मुझे उसे खा लेना चाहिए? तो दोस्तों ने शर्त लगाते हुए चैलेंज दिया कि वो ऐसा नहीं कर पाएगा, ऐसे में सैम ने डेयरिंग दिखाते हुए जिंदा घोंघा खा लिया था।

2010 में सैम ने जैसे ही जिंदा घोंघा खाया था, उसके आधे शरीर में लकवा मार गया। उसे हॉस्पिटल में एडमिट किया गया जहां डॉक्टर्स ने परिवार को बुरी खबर दी। बताया गया कि जिस घोंघे को सैम ने खाया उसके अंदर लंगवॉर्म नाम का वायरस था। इस वायरस से सैम भी जकड़ जुका था। वायरस ने सैम के अंदरूनी अंगों को बर्बाद करना शुरू कर दिया था। डॉक्टर्स ने बताया कि ये वायरस गंदे कीड़े या चूहे के मल में पाया जाता है। क्योंकि घोंघे भी कई बार चूहों का मल खाते हैं, इसी वजह से ये वायरस उनमें भी पाया जाता है।

लंगवॉर्म से पीड़ित सैम को eosinophilic meningo-encephalitis हो गया, जिससे उसके दिमाग पर बुरा असर पड़ा। जब वो कोमा से बाहर आया तो उसका पूरा शरीर लकवा मार चुका था। सैम की मां को पहले लगता था कि वो एक वापस पहले जैसा हो जाएगा पर दिमाग में इंफेक्शन होते ही सैम के ठीक होने की उम्मीद खत्म हो चुकी थीं।

करीब 8 साल तक सैम के परिवार ने उसकी सेवा की। उसके दोस्तों ने भी उसके ट्रीटमेंट के लिए कई जगहों से पैसा इकट्ठा किया। पर सैम के परिवार को बड़ा झटका तब लगा जब उसे मिलने वाले डिसेबलिटी अलाउंस को आधे से भी कम कर दिया गया और उसका परिवार कर्ज में डूब गया।

source : ajab ghazab

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *